मोदी सरकार लाएगी New Labor Codes ( नौकरी संबंधित नियम ), जिसमें work-from-home को बढ़ावा दिया जाएगा जाने सारी जानकारी 2022

  दरअसल भारत में नई लेबर Code अर्थात नौकरी संबंधित नियमों की सूची को बार-बार परिवर्तित करने के लिए जोर दिया जा रहा है और उसकी डेडलाइन डेट भी बनाई जा रही है

 लेकिन वह किसी न किसी कारणवश हमेशा पीछे ही रह जाती है और उसे लागू नहीं करवाया जाता लेकिन आप मोदी जी के बयान से सभी को यह लग रहा है कि यह नौकरी संबंधित कानून जल्द ही लागू होंगे और इनमें वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा दिया जाएगा

  दोस्तों जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं करोना काल में बहुत से लोगों की नौकरियां छुट्टी और बहुत से लोगों को घर बैठे रहना पड़ा लेकिन इस पर मुख्य रूप से आईटी सेक्टर वाले कर्मचारियों को ज्यादा प्रभाव देखने को नहीं मिला

क्योंकि आईटी सेक्टर वाली कंपनियों ने सभी लोगों को work-from-home करने की सलाह दी और उनसे work-from-home लिया जिससे कि उन कर्मचारियों की नौकरी नहीं छुट्टी और आईटी सेक्टर की कंपनियों की ग्रोथ रेट में कुछ ज्यादा फर्क नहीं दिखाई दिया जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं

कि बहुत सी कंपनियां कंगाल हुई और बहुत सी कंपनियों का नामोनिशान मिट गया लेकिन आईटी सेक्टर की कंपनियों में किसी प्रकार का नुकसान नहीं देखा गया है उन्हें बल्कि  करोना काल के दौरान  ज्यादा ऑनलाइन यूजर होने के कारण उनकी ग्रोथ रेट में अधिक प्रॉफिट देखा गया है

  लेकिन अभी यह आईटी सेक्टर वाली कंपनियां ही वर्क फ्रॉम होम को बंद करने की कोशिश कर रही है इसी के चलते TCS  ने तो अपने कर्मचारियों को दोबारा दफ्तर में आकर अपना कार्य प्रारंभ करने का अल्टीमेटम भी दे दिया है

लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी जी का कहना है कि हमें work-from-home की नीति पर विचार करना चाहिए और उसे बढ़ावा देना चाहिए

  एप्पल जैसी विश्व की बड़ी-बड़ी कंपनियां पीपल फ्रॉम होम को बंद करना चाहती हैं लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी इसमें work-from-home को बढ़ावा देते हुए दिखाई दिए और यदि उनके द्वारा इस प्रकार की नीतियों को सरकार द्वारा लागू कर दिया जाता है तो भारत में नौकरियों का करने का तरीका ही परिवर्तित हो जाएगा

  दरअसल नई लेबर Code के तहत कर्मचारियों को सप्ताह में 3 दिन की छुट्टी दी जाएगी और 4 दिन काम करना होगा और उन 4 दिनों में कर्मचारी को 12-12 घंटे का कार्य करना होगा

  यदि यह नीति भारत में लागू होती है तो इसका मतलब यह होता है कर्मचारी अपने वर्किंग डेज  मैं करीबन 14 से 15 घंटे बाहर ही रहेगा क्योंकि यदि वह 12 घंटे काम करता है तो उसे घर से ऑफिस और ऑफिस से घर आने में भी एक-दो घंटे का समय लग जाता है जिसके कारण वश इस नीति पर बुरा प्रभाव पड़ेगा

Narendra Modi (2)

  इसी को देखते हुए नरेंद्र  मोदी work-from-home के इकोसिस्टम को नहीं नीति में जुड़ना चाहते हैं

 नरेंद्र मोदी जी ने अपने भाषण में नौकरी के नेचर के बारे में कहते हुए कहा कि वर्तमान समय में वर्क फ्रॉम होम फ्लैक्सिबल प्लेसिस और फ्लैक्सिबल आवर के पर गौर करना होगा

क्योंकि अब नौकरियों का नेचर बदलता जा रहा है और अपनी बात पर जोर देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी जी ने कहा कि भारत  पहली तीन उद्योगी क्रांतियों में भारत अपनी कुछ अहम भूमिका नहीं निभा पाया और सभी देशों से पिछड़ा रहा यदि भारत को इस चौथी चल रही

Also Read :-Indian Post Office New Vacancey 2022 ले सारी महत्वपूर्ण जानकारियां

उद्योगी क्रांति में सभी के समान तेजी से विकास करना है तो उसे कुछ नए नियमों का अनुपालन करना होगा और उन्हें जल्द से जल्द कार्य में लाना होगा इसी के चलते उन्होंने कहा है कि work-from-home एक अच्छी नीति है 

  नरेंद्र मोदी जी की 4 दिन 12 घंटे काम करना और 3 दिन अवकाश लेने से आप क्या समझते हैं कि आप अपने Working day दो ब्रेक लेकर 6-6 घंटे काम करके 12 घंटे का काम कर सकते हैं या तीन ब्रेक लेकर   आप 4-4 घंटे काम करके 12 घंटे का काम कर सकते हैं और

वही जब आप 3 दिन का अवकाश देंगे तब आप घूमने के लिए किसी ना किसी स्थान पर जाएंगे जिससे कि भारत में टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा और नए-नए जगह पर रोजगार को बढ़ावा मिलेगा

इससे आपका चार दिन काम करने पर जो तनाव होता है वह भी दूर हो जाता है जिससे आप अगले हफ्ते की काम के लिए एकदम तरोताजा महसूस करते हैं

 दोस्तों मैं आप से पूछना चाहता हूं कि यदि यह नई नौकरी संबंधित नियम भारत में लागू होती है तो भारत में  विकास को बढ़ावा मिलेगा या नहीं आप अपने अपने विचार कमेंट कर कर बता सकते हैं

Leave a Comment