लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं | Ladkiyon ki Uchch Shiksha ke liye yojanaen 2022

 क्या आप लड़कियों की उच्च शिक्षा  के लिए योजनाओं ( Ladkiyon ki Uchch Shiksha ke liye yojanaen ) की  खोज कर रहे हैं  तो आप यहां पर पाएंगे भारत की लगभग सभी महत्वपूर्ण शिक्षा से संबंधित और लड़कियों को 

शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बनाई गई योजनाओं के बारे में और यह आर्टिकल हमारा 10 15 दिन में हर बार अपडेट होता रहता है इसीलिए आप यहां पर आ कर दोबारा भी चेक कर सकते हैं कि कौन सी नई योजना यहां पर आई है

  दोस्तों आप सभी जानते हैं कि भारत में बहुत सी कुप्रथा है चलती थी जिनका वर्ष भारत में लड़कियों की शिक्षा को इतना महत्व नहीं दिया जाता था जिनके कारण भारत में लड़कियों की साक्षरता दर बहुत कम हो गई है और भारत में लिंग अनुपात में भी बहुत बड़ा अंतर है इसी अंतर को

 समाप्त करने के लिए भारत सरकार ने बहुत से लड़कियों से संबंधित योजनाओं का शुभारंभ किया था कि भारत के समाज को लड़कियों में किए जाने वाले भेदभाव को कम किया जा सके
ताकि भारत में लड़कियों की संख्या में बढ़ावा हो और लिंग अनुपात का जो अंतर बढ़ता जा रहा है उसको कम किया जा सके और भारत का कल्याण हो सके

 तो दोस्तों आज हम किस आर्टिकल में आपको बताएंगे ऐसे ही कुछ 10 योजनाएं जो भारत सरकार और भारत के कुछ राज्यों द्वारा चलाई गई योजनाएं जिनका मुख्य उद्देश्य लड़कियों को शिक्षित करना और लिंग अनुपात को कम करना और

लड़कियों की शिक्षा दर को बढ़ावा देना तो दोस्तों सारी जानकारी को अच्छी तरह से समझने के लिए कृपया इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े 

Ladkiyon ki Uchch Shiksha ke liye yojanaen 2022
Ladkiyon ki Uchch Shiksha ke liye yojanaen 2022
केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई लड़कियों की शिक्षा के लिए योजनाएं

केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई लड़कियों की शिक्षा के लिए योजनाएं ( Ladkiyon ki Uchch Shiksha ke liye yojanaen ) :-

1. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

2. बालिका समृद्धि योजना

3. CBSE उड़ान योजना

4. माध्यमिक शिक्षा के लिए लड़कियों के लिए प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना

5. धन लक्ष्मी योजना

6. सुकन्या योजना

राज्य सरकारों द्वारा चलाई गई लड़कियों की शिक्षा के लिए योजनाएं

1.  माझी कन्या भाग्यश्री योजना ( महाराष्ट्र )

2. कन्याश्री प्रकल्प (  पश्चिम बंगाल ) 

3. मुख्यमंत्री राजश्री योजना (  बिहार )

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

 यह योजना केंद्र सरकार द्वारा भारत में बढ़ रहे लिंग अनुपात को कम करने के लिए वह भारत में लिंग के पक्षपाती भाव को कम करने के लिए यह योजना लाई गई थी इस योजना के द्वारा लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा दिया जाता है लिंग अनुपात के अंतर को समाप्त करने का प्रयास किया जाता है 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

 जब यह योजना प्रारंभ की गई थी उस समय यह योजना केवल उन राज्यों के जिलों में प्रारंभ की गई थी जहां पर पुरुषों  से महिलाओं की संख्या बहुत कम थी लेकिन बाद में यह योजना पूरे भारत के सभी राज्यों सभी जिलों में प्रारंभ कर दी गई थी इस योजना से महिलाओं को शिक्षा देने के कार्य को बढ़ावा दिया गया

  इस योजना में लाभार्थी को लाभ रूपी राशि को कष्ट में नहीं दिया जा सकता यहां पर लाभार्थी को दिए जाने वाले लाभ राशि केवल उसके बैंक अकाउंट में दी जाती है ताकि बाद में यह रिकॉर्ड रहे कि किस दिन किस महिला को कितनी राशि का लाभ दिया गया था

  और इस योजना के तहत समाज में हो रहे बालिकाओं के गर्भपात को रोकना भी इसका एक मुख्य उद्देश्य था इस योजना के तहत भारत में बहुत  सी बुरी प्रथाएं को समाप्त करने में सहायता मिली है 

बालिका समृद्धि योजना 

यह योजना  केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई थी और इस योजना में मुख्य रूप से बालिकाओं को छात्रवृत्ति दी जाती है और साथ ही साथ ग्रहणी को भी कुछ धनराशि का लाभ दिया जाता है इस योजना का मुख्य उद्देश्य  बुरी प्रथाओं

https://indiasno1finance.in/best-grahak-seva-kendra-csp-kasie-khole-instant-mini-bank-2022/

 को समाप्त करना  जैसे लिंग अनुपात और कन्या भ्रूण हत्या

 और गरीब परिवार में रहने वाली कन्याओं को को छात्रवृत्ति और महिलाओं को कुछ धनराशि से उनकी स्थिति को सुधारने का प्रयास किया जाता है तथा कन्याओं की विवाह आयु को बढ़ाने व उनकी शिक्षा स्तर को बढ़ाने का प्रयास किया गया है

  बालिका समृद्धि योजना में दिए जाने वाले लाभ और विशेषताएं :-

 बालिका समृद्धि योजना ग्रामीण क्षेत्र व शहरी क्षेत्र दोनों में कार्यरत है

इस योजना के तहत नवजात लड़की शिशु को जन्म देने पर जन्म देने वाली महिला को ₹500 के धनराशि दी जाती है

इस योजना के तहत बालिका के स्कूल जाने पर उसे ₹300 से ₹1000 तक की वार्षिक छात्रवृत्ति दी जाती है

इस योजना का इच्छुक आवेदक महिला और बाल विकास विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इसका आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकती है और उसे भरकर संबंधित विभाग में जमा करवाकर इस योजना का लाभ उठा सकती है 

समय प्रत्येक बालिका को दी जाने वाली राशि
जन्म और जन्म रजिस्ट्रेशन ₹ 5000
6 सप्ताह के बाद टीकाकरण ₹ 200
14 सप्ताह के बाद टीकाकरण ₹ 200
9 महीने के बाद टीकाकरण ₹ 200
16 महीने के बाद टीकाकरण ₹ 200
24 महीने के बाद टीकाकरण ₹ 200
टीकाकरण पूरा होने के बाद ₹ 250
प्राथमिक विद्यालय में एडमिशन होने पर ₹ 1000
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 1 पास करने पर ₹ 500
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 1 पास करने पर ₹ 500
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 1 पास करने पर ₹ 500
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 1 पास करने पर ₹ 500
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 1 पास करने पर ₹ 500
माध्यमिक विद्यालय में एडमिशन के बाद ₹ 1500
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 6 पास करने पर ₹ 750
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 7 पास करने पर ₹ 750
कम से कम 85% अटेंडेंस के साथ कक्षा 8 पास करने पर ₹ 750

CBSE उड़ान स्कीम

सीबीएसई उड़ान स्कीम केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा इंजीनियरिंग और तकनीकी कॉलेजों में शिक्षा के लिए लड़कियों की संख्या को बढ़ाने के लिए इस योजना का शुभारंभ किया गया था इस योजना से लड़कियों को उच्च शिक्षा में बढ़ावा वह अन्य सहायता दी जाती है और इस योजना से संबंधित दिए जाने वाले लाभ निम्नलिखित हैं लेकिन इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक या लाभार्थी छात्रा सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूल से ही शिक्षा प्राप्त करने वाली होनी चाहिए

सीबीएसई उड़ान स्कीम में दिए जाने वाले लाभ व विशेषताएं निम्नलिखित हैं

11वीं व 12वीं की लड़कियों को पर ही समान वह ऑनलाइन पढ़ाई की सामग्री प्रदान की जाती है

11वीं व 12वीं की लड़कियों को रविवार यानी संडे को ऑनलाइन क्लासेस दी जाती हैं

 साथ ही साथ लड़कियों को उच्च विचार विमर्श वह अपनी समस्याओं का समाधान करवाने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी दिया जाता है

सीबीएसई उड़ान स्कीम से लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक योग्यताएं निम्नलिखित हैं

लाभ प्राप्त करने वाली आवेदक छात्रा भारतीय नागरिक होनी चाहिए

आवेदक छात्रा सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूल की छात्रा होनी चाहिए

आवेदक छात्रा ग्यारहवीं व बारहवीं की विद्यार्थी होनी चाहिए

आवेदक छात्रा के पास गणित (मैथ), भौतिकी( फिजिक्स) और रसायन(केमिस्ट्री) का विषय होना चाहिए

आवेदक छात्रा के परिवार की सालाना आय ₹600000 से कम होनी चाहिए

आवेदक छात्रा को उसके मेरिट रिजल्ट के आधार पर ही चुना जाएगा

माध्यमिक शिक्षा के लिए लड़कियों के लिए प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना:-

 मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा माध्यमिक शिक्षा योजना के लिए लड़कियों के लिए प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना प्रारंभ की गई है यह योजना भारत के पिछड़े तथा गरीब परिवारों की लड़कियों को शिक्षित करने

 वह उन्हें अन्य लाभ पहुंचाने के लिए लाई गई थी और यह योजना इस उद्देश्य को भलीभांति पूरा कर रही है यदि आप भी इस योजना के लिए योग्य है तो कृपया योजना का लाभ ले और भारत की अर्थव्यवस्था और विकास करने में योगदान दें

https://indiasno1finance.in/mother-dairy-franchise-kasie-le-in-hindi-2022-dealership-or-distributorship-cost/

माध्यमिक शिक्षा के लिए लड़कियों के लिए प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना से लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए

 आवेदक छात्रा जो आठवीं कक्षा को पास कर चुकी है तथा SC/ST  वर्ग से संबंध रखती है अन्य वर्गों की लड़कियां भी इस योजना से लाभ ले सकती हैं लेकिन यह तभी संभव है यदि में अन्य वर्ग की लड़कियां कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय से आठवीं कक्षा की परीक्षा पास की हो 

माध्यमिक शिक्षा के लिए लड़कियों के लिए प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना से प्राप्त होने वाला लाभ निम्नलिखित है

  इस योजना के आवेदक छात्राओं को सा अवधि के लिए ₹3000 जमा करने होते हैं जो वह दसवीं कक्षा और 18 वर्ष की आयु प्राप्त होने पर यह राशि निकाल सकती हैं और इस राशि पर अच्छा ब्याज मिलता है जिससे यह राशि एक बड़ी धनराशि बंद कर आपको उच्च शिक्षा के लिए योगदान देते हैं

 धन लक्ष्मी योजना:-

 यह योजना केंद्र सरकार द्वारा मार्च 2008 को चलाई गई थी इस योजना से छात्रा लड़कियों को छात्रवृत्ति दी जाती थी और इस योजना को कुछ ही राज्यों में प्रारंभ किया गया है और वह राज्य निम्नलिखित हैं

 आंध्र प्रदेश

 बिहार

 छत्तीसगढ़

 झारखंड

 ओडिशा

पंजाब 

उत्तर प्रदेश

 इन सभी राज्यों की छात्र यदि इस योजना के लिए आवेदन करते हैं तो वह वह इस योजना से लाभ प्राप्त करती हैं तो उन्हें अपनी स्कूल से दाखिला लेने से लेकर आठवीं कक्षा तक इस योजना के तहत लाभ प्राप्त होता है

माझी कन्या भाग्यश्री योजना:-

 इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वाले लड़की को अपने जन्म से 5 वर्ष तक हर साल ₹5000 तक की धनराशि तथा पांचवी कक्षा में दाखिला लेने पर उसे 2500 प्रति वर्ष की राशि दी जाती है तथा बाद में यह छात्रवृत्ति राशि ₹3000 तक पहुंच जाती है और

यह ₹3000 तक की धनराशि लाभार्थी लड़की को तब तक मिलती है तब वह 12वीं कक्षा में दाखिला ने ले ली 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर ₹100000 की धनराशि उसे उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाती है

 मांझी कन्या भाग्यश्री योजना के लिए आवेदन करने के लिए

 आप स्थानीय आंगनवाड़ी से इसका फार्म लेकर वह आंगनवाड़ी अधिकारी या कर्मचारी से सारी जानकारी प्राप्त कर कर संबंधित दस्तावेज जोड़कर उन्हें वापिस दे दे इस फार्म को आगे इसके विभाग में पहुंचा देगी जिससे आपको बाद में लाभ प्राप्त होगा

यदि आपके पास इस का फॉर्म नहीं प्राप्त होता है तो आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके इसके कारण को डाउनलोड कर सकते हैं और उसे भरकर लाभ प्राप्त कर सकते हैं

मांझी कन्या भाग्यश्री योजना के लिए आवेदन पत्र

 कन्याश्री प्रकल्प योजना 

इस योजना का उद्देश्य भी पश्चिम बंगाल के निवासियों ने बढ़ रहे लिंग अनुपात के पास ले को कम करना और महिलाओं को समानता और पक्षपाती व्यवहार को अच्छा करने का उद्देश्य था और साथ ही साथ लड़की की शिक्षा को भी बढ़ावा देना इस योजना का मूल उद्देश्य था

 इस योजना के तहत  13 वर्ष से 18 वर्ष तक की छात्राओं को ₹750 तक की धनराशि छात्रवृत्ति के रूप में प्राप्त होती है साथ ही 18 से 19 वर्ष की छात्राओं को ₹25000 की धनराशि अपनी उच्च शिक्षा को प्राप्त करने के लिए दी जाती है

 कन्याश्री प्रकल्प योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक छात्रा के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी आवश्यक है

1. आवेदक छात्रा पश्चिम बंगाल की निवासी होनी चाहिए

2.  आवेदक छात्रा के पास एक बैंक अकाउंट होना चाहिए

3. आवेदक छात्रा किसी शिक्षण संस्थान में एक छात्रा के रूप में होनी चाहिए

4. आवेदक छात्रा अविवाहित होनी चाहिए

5. आवेदक छात्रा के परिवार की सालाना आय 1.2 लाख से कम होनी चाहिए

कन्याश्री प्रकल्प योजना का लाभ उठाने के लिए यदि आप आवेदन करना चाहते हैं तो आपको आवेदन पत्र आप के शैक्षणिक संस्थान के द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा

सुकन्या समृद्धि योजना:

सुकन्या समृद्धि योजना यह योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आती है और इसी कारणवश इस योजना में आपको यह लाभ दिया जाता है

कि यदि आप किसी नवजात लड़की के जन्म के उपरांत ही उसके नाम से एक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक बैंक अकाउंट करवाते हैं

और उसमें कुछ धनराशि प्रति महीने जमा करते हैं तो उस जमा राशि पर अधिक ब्याज दर से ब्याज दिया जाता है और उस पर किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लगता जिस कारण बस यह धनराशि लगभग 10 15 सालों में बहुत बड़ी धनराशि बन जाती है

अर्थात यदि आप लड़की के जन्म के समय कुछ धनराशि को इस अकाउंट में जमा करते हैं तो यह धनराशि लड़की के युवा अवस्था में पहुंचते-पहुंचते इतनी बड़ी बन जाती है

कि इस धनराशि से आप उस लड़की का विवाह वह उच्च शिक्षा का खर्चा उस कुछ राशि द्वारा कर सकते हैं

मुख्यमंत्री राजश्री योजना 

 यह योजना बिहार में प्रारंभ की गई है और इस योजना के तहत लाभार्थी महिला को एक नवजात लड़की शिशु के जन्म पर ₹2500 की धनराशि दी जाती है तथा

उसके विद्यालय में प्रवेश करने पर ₹4000 की धनराशि दी जाती है और जब वह छठी कक्षा में पहुंच जाती है तो उसे ₹5000 की छात्रवृत्ति दी जाती है और 11वीं कक्षा में पहुंचने पर ₹11000 की धनराशि छात्रवृत्ति के रूप में दी जाती है

 तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा प्रस्तुत की गई है लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं कैसी लगी कृपया कमेंट कर कर हमें अवश्य बताएं

यदि आपको किसी प्रकार की समस्या हो तो हमें कमेंट कर कर अवश्य बताएं हम आपकी समस्या का तुरंत समाधान करेंगे कमेंट करते समय आप अपना कांटेक्ट नंबर भी कमेंट में डाल दो ताकि आपकी समस्या का समाधान हम आपको मैसेज करके बता सके 

Leave a Comment